12वीं के बाद वेब डेवलपर कैसे बनें [2024]

वेब डेवलपर कौन होता है?

वेब डेवलपर एक ऐसा व्यक्ति होता है जो वेबसाइटों और वेब एप्लिकेशन बनाने और उनका रखरखाव करने का काम करता है। वे विभिन्न प्रोग्रामिंग भाषाओं और तकनीकों का उपयोग करके वेबसाइटों के फ्रंट-एंड और बैक-एंड दोनों को विकसित करते हैं।

वेब डेवलपर बनने के लिए आवश्यक कौशल:

  • प्रोग्रामिंग भाषाओं का ज्ञान: HTML, CSS, JavaScript, Python, Java, PHP, etc.
  • डेटाबेस का ज्ञान: MySQL, PostgreSQL, MongoDB, etc.
  • Version Control System का ज्ञान: Git, SVN, etc.
  • समस्या निवारण और डीबगिंग कौशल: वेबसाइटों और वेब एप्लिकेशन में त्रुटियों को ढूंढने और उन्हें ठीक करने में सक्षम होना।
  • संचार और टीमवर्क कौशल: ग्राहकों और अन्य डेवलपर्स के साथ प्रभावी ढंग से संवाद करने में सक्षम होना।

वेब डेवलपर कैसे बनें?

12वीं के बाद वेब डेवलपर बनने के लिए आप निम्नलिखित तरीकों का पालन कर सकते हैं:

1. बेसिक वेब डेवलपमेंट नॉलेज हासिल करें:

  • HTML, CSS, और JavaScript जैसी वेब डेवलपमेंट भाषाओं की मूल बातें सीखें।
  • वेब डेवलपमेंट के बारे में ऑनलाइन ट्यूटोरियल और वीडियो देखें।
  • वेब डेवलपमेंट पर किताबें और लेख पढ़ें।

2. फॉर्मल एजुकेशन हासिल करें:

  • वेब डेवलपमेंट में डिप्लोमा या डिग्री प्राप्त करें।
  • कंप्यूटर विज्ञान या सूचना प्रौद्योगिकी में स्नातक की डिग्री प्राप्त करें।

3. एक प्रोफेशनल सर्टिफिकेशन हासिल करें:

Coursera, Udemy, Udacity जैसे ऑनलाइन प्लेटफॉर्म से वेब डेवलपमेंट में प्रोफेशनल सर्टिफिकेशन प्राप्त करें।

Full Stack Developer Roadmap:

क्या चुनें?

  1. MERN या MEAN: आपको सबसे पहले यह तय करना है कि आप MERN (MongoDB, Express, React, Node.js) या MEAN (MongoDB, Express, Angular, Node.js) तकनीक में काम करना चाहते हैं। दोनों लोकप्रिय विकल्प हैं, लेकिन मुख्य अंतर फ्रंट-एंड फ्रेमवर्क में है (MERN में React, MEAN में Angular)।

फ्रंट-एंड डेवलपमेंट (Front-end Development) में विशेषज्ञ बनें:

  1. HTML, CSS और JavaScript में महारत हासिल करें: ये भाषाएँ वेबसाइटों का बुनियादी ढाँचा और इंटरैक्टिविटी बनाती हैं। ट्यूटोरियल और अभ्यास से इन्हें सीखें।
  2. फ्रेमवर्क का उपयोग करें: Tailwind CSS या Bootstrap का उपयोग करके विकास को गति दें।
  3. जावास्क्रिप्ट में गहराई से उतरें: DOM और API को समझें।

बैक-एंड डेवलपमेंट (Back-end Development) में गहराई से उतरें:

  1. नोड.js और एक्सप्रेस.js सीखें: सर्वर-साइड कोड चलाने और प्रबंधित करने के लिए इन का उपयोग करें।
  2. डेटाबेस से जुड़ें: MongoDB एक अच्छा विकल्प है, पर आप MySQL भी सीख सकते हैं।

अभ्यास, अभ्यास, अभ्यास!

  1. अपने ज्ञान को व्यवहार में लाएँ: परियोजनाओं पर काम करके सीखें। ओपन-सोर्स प्रोजेक्टों में योगदान दें। अपनी खुद की वेबसाइट या ऐप बनाएँ।

अपने कौशल का विकास करते रहें

  1. नई तकनीकों को लगातार सीखते रहें।
  2. अभ्यास, ऑनलाइन पाठ्यक्रम और ट्यूटोरियल के माध्यम से अपने कौशल को निखारें।

वेबसाइट डेवलपर समुदा (Community) य से जुड़ें

  1. ऑनलाइन मंचों और कार्यक्रमों में भाग लें।
  2. अन्य डेवलपर्स से सीखें और सहयोग करें।

याद रखें:

  1. Full Stack Developer बनने में समय और मेहनत लगती है, लेकिन निरंतर सीखने और अभ्यास करने से आप इस रोमांचक करियर में सफलता हासिल कर सकते हैं।
  2. अपनी रुचियों का पालन करें और वह तकनीक चुनें जो आपको आकर्षित करे।
  3. मज़े करें और सीखने का आनंद लें!

अब आगे बढ़ें और एक बेहतरीन फुल स्टैक डेवलपर बनें!

5. प्रैक्टिस करें:

Web Development Projects for Beginners
  • अपनी सीखी हुई जानकारी को लागू करने के लिए विभिन्न वेब डेवलपमेंट प्रोजेक्ट्स पर काम करें।
  • ओपन-सोर्स प्रोजेक्ट्स में योगदान दें।
  • अपनी खुद की वेबसाइट या वेब एप्लिकेशन बनाएं।

6. अपने टेक्निकल स्किल का विकास करें:

  • लगातार नई तकनीकों और प्रोग्रामिंग भाषाओं को सीखते रहें।
  • अपनी तकनीकी कौशल को बेहतर बनाने के लिए ऑनलाइन कोर्स और ट्यूटोरियल का लाभ उठाएं।

7. Web Development Portfolio बनाएं:

  • अपनी वेब डेवलपमेंट स्किल और अनुभव को प्रदर्शित करने के लिए एक पोर्टफोलियो बनाएं।
  • अपने पोर्टफोलियो में अपनी सर्वश्रेष्ठ परियोजनाओं को शामिल करें।

8. वेब डेवलपर समुदाय में शामिल हों:

  • ऑनलाइन मंचों और समुदायों में भाग लें।
  • अन्य डेवलपर्स से जुड़ें और उनसे सीखें।

उदाहरण:

मान लीजिए कि आप एक ई-कॉमर्स वेबसाइट बनाना चाहते हैं। आप HTML, CSS, और JavaScript का उपयोग करके वेबसाइट का फ्रंट-एंड विकसित करेंगे। आप Python या Java जैसी भाषा का उपयोग करके वेबसाइट का बैक-एंड विकसित करेंगे। आप MySQL जैसी डेटाबेस का उपयोग करके वेबसाइट के लिए डेटा संग्रहीत करेंगे। आप Git का उपयोग करके वेबसाइट के लिए Version Control System को मैनेज करेंगे।

वेब डेवलपर के प्रकार

वेब डेवलपर वे हैं जो वेबसाइटों और वेब एप्लिकेशन को बनाते हैं। वेब डेवलपर के तीन प्रमुख प्रकार हैं: फ्रंट एंड, बैकएंड और फुल स्टैक।

  • फ्रंट एंड वेब डेवलपर: ये वे हैं जो वेबसाइट का सामने का हिस्सा, यानि जो हमें दिखता है, को बनाते हैं। उन्हें HTML, CSS, JavaScript जैसी मार्कअप, स्टाइलिंग और स्क्रिप्टिंग भाषाओं का प्रयोग करना आता है।
  • बैकएंड वेब डेवलपर: ये वे हैं जो वेबसाइट का पीछे का हिस्सा, यानि सर्वर, डेटाबेस, API (Application Programming Interface) को मैनेज करते हैं। उन्हें PHP, Python, Ruby, Java, Node.js, SQL, MongoDB, Firebase, GraphQL  जैसी प्रोग्रामिंग, स्क्रिप्टिंग,  क्वेरी  और  डेटाबेस  मैनेजमेंट  सिस्टम  का प्रयोग करना  आता है।
  •  फुल स्टैक  डेवलपर:  ये  वे  हैं  जो  दोनों  तरह  के  काम  कर  सकते  हैं,  मतलब  कि  उन्हें  फ्रंट  एंड  और  बैकएंड  की स्किल्स मिली हुई होती हैं।

Leave a Comment